|| || WELCOME TO BHARTIYA NEWS || || भारतीय न्यूज़ वेब टीवी में आपका स्वागत है/ राष्ट्रीय ख़ोज न्यूज़ टीवी चैनल में आपका स्वागत है|| || देखिये देश- विदेश की मुख्य खबरें || ||WELCOME TO BHARTIYA NEWS || || देखिये देश की ताज़ा एवं तेज तर्रार खबरें || || विज्ञापन देने के लिए सम्पर्क करें || || WELCOME TO BHARTIYA NEWS || ||

PGI चंडीगढ़ में दुर्घटनाओं का खुला निमंत्रण! PGIMR के सुपरिंटेंडेंट इंजीनियर की लापरवाही के कारण टूटी सड़को पर हो सकते है बड़े हादसे?*

राणा ओबराय
राष्ट्रीय ख़ोज/भारतीय न्यूज,
,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,
PGI चंडीगढ़ में दुर्घटनाओं का खुला निमंत्रण! PGIMR के सुपरिंटेंडेंट इंजीनियर की लापरवाही के कारण टूटी सड़को पर हो सकते है बड़े हादसे?*
,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,
चंडीगढ़ ;- उत्तर भारत का प्रसिद्ध मेडिकल संस्थान पीजीआईएमआर चंडीगढ़ दुनिया में इस बात के प्रसिद्ध है कि यहां कोई भी आदमी घायल अवस्था या किसी अन्य बीमारी से ग्रस्त होकर आता है तो लगभग ठीक होकर ही जाता है। परंतु पीजीआई इंजीनियरिंग विभाग के हालात और कार्यशैली कुछ और ही है। यहां प्रायः देखने को मिला है पीजीआई की मुख्य सड़कों पर काफी गहरे गहरे खड्डे हैं जोकि कई महीनों से नजर आ रहे हैं। परन्तु प्रशासन अपनी आंखें मूंदकर बैठा हुआ है और लोगों को दुर्घटनाग्रस्त होने का न्यौता दे रहा है! पीजीआई चंडीगढ़ की मुख्य सड़कों पर सभी बड़े अधिकारी आवागमन करते हैं परंतु आंखों देखे हालात को नजरअंदाज कर देते हैं। इसके पीछे क्या कारण है क्या पीजीआई इंजीनियरिंग विभाग यह चाहता हैं कि लोग यहां ठीक होने की बजाए दुर्घटनाग्रस्त होकर जाए या वह यह चाहते हैं कि पीजीआई के अंदर इलाज कराने के लिए लोग अपने वाहनों से आए ही नहीं! क्योंकि अक्सर इन सड़कों पर देखा जाता है कि गहरे खड्डे होने की वजह से लोग स्कूटर और बाइक पर गिर कर घायल हो जाते हैं। परंतु पीजीआई का इंजीनियरिंग विभाग नहीं जागता! जब इस विषय पर PGI के xen अग्रवाल से बात की तो उन्होंने कहा यह मेरे कार्यक्षेत्र में नही आता। जब इसी विषय पर सुपरिटेंडेंट इंजीनियर से करनी चाही तो उनके पीए मान ने बताया कि वह व्यस्त हैं। अब सवाल उठता है कि क्या यूटी के प्रशासक अथवा उनके सलाहकार या गृह सचिव यूटी या जिला उपायुक्त पीजीआई प्रशासन की द्वारा की जा रही लापरवाही पर संज्ञान लेंगे या सभी पीजीआई चंडीगढ़ प्रशासन की तरह आंखें मूंद कर बैठ जाएंगे?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!