|| || WELCOME TO BHARTIYA NEWS || || भारतीय न्यूज़ वेब टीवी में आपका स्वागत है/ राष्ट्रीय ख़ोज न्यूज़ टीवी चैनल में आपका स्वागत है|| || देखिये देश- विदेश की मुख्य खबरें || ||WELCOME TO BHARTIYA NEWS || || देखिये देश की ताज़ा एवं तेज तर्रार खबरें || || विज्ञापन देने के लिए सम्पर्क करें || || WELCOME TO BHARTIYA NEWS || ||

हरियाणा डिप्टी स्पीकर रणबीर गंगवा की गाड़ी पर पथराव मामले में सात माह बाद डीएसपी निलंबित*

राणा ओबराय
राष्ट्रीय ख़ोज/भारतीय न्यूज,
,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,
हरियाणा डिप्टी स्पीकर रणबीर गंगवा की गाड़ी पर पथराव मामले में सात माह बाद डीएसपी निलंबित*
,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,
चंडीगढ ;- किसान आंदोलन के दौरान सिरसा में हरियाणा विधानसभा के डिप्टी स्पीकर रणबीर गंगवा की गाड़ी पर पथराव मामले में सात माह बाद डीएसपी संजय सिंह को निलंबित कर दिया गया है। बहुचर्चित मामले में यह दूसरी कार्रवाई है। सुरक्षा में लापरवाही मानकर तत्कालीन थाना प्रभारी इंस्पेक्टर विक्रम सिंह को घटना के अगले दिन ही निलंबित कर दिया गया था।
वहीं तत्कालीन एसपी भूपेंद्र सिंह का तबादला कर दिया गया था। मामले में किसान नेता प्रहलाद सिंह भारूखेड़ा सहित 100 लोगों पर सरकार के खिलाफ बगावत करने, जानलेवा हमला करने, सरकारी संपत्ति को नुकसान पहुंचाने की धाराओं में मामला दर्ज किया गया था। विगत 11 जुलाई को चौधरी देवीलाल यूनिवर्सिटी (सीडीएलयू) में बैठक में शामिल होने के बाद डिप्टी स्पीकर रणबीर गंगवा लौट रहे थे। सीडीएलयू के गेट से बाहर निकलते ही उनकी गाड़ी पर पथराव किया गया। पथराव में उनकी गाड़ी के शीशे टूट गए। किसानों ने सीडीएलयू के दोनों गेटों का घेराव किया। इस दौरान एक गेट के ऊपर से भी सीडीएलयू में घुस गए थे। इसके बाद पुलिस ने उन्हें हिरासत में ले लिया। सरकार ने मामले को गंभीरता से लेते हुए हिसार रेंज के आईजी को मामले की जांच सौंपी। मामले में डीएसपी संजय कुमार व तत्कालीन थाना प्रभारी विक्रम सिंह के खिलाफ जांच शुरू की गई।
मामले में आईजी ने सिविल लाइन थाना प्रभारी विक्रम सिंह को निलंबित कर दिया था। हालांकि जांच के बाद उन्हें बहाल कर दिया गया। वर्तमान में वह शहर थाना प्रभारी के रूप में कार्य कर रहे है। अब सात माह बाद डीएसपी संजय कुमार को निलंबित किया गया है। हालांकि किसानों पर दर्ज मुकदमों को भी वापस ले लिया गया है। विगत 11 जुलाई को किसान संगठनों के प्रतिनिधि कृषि कानून रद्द करने की मांग को लेकर सिरसा बाईपास रोड पर चौधरी देवीलाल विश्वविद्यालय के मुख्य गेट के आगे विरोध प्रदर्शन कर रहे थे। विश्वविद्यालय परिसर में भाजपा नेताओं द्वारा बैठक की जा रही थी। बैठक के बाद भाजपा नेताओं के वाहनों का काफिला बाहर निकला तो किसानों ने उन्हें काले झंडे दिखाए और विरोध में नारेबाजी की। इस दौरान किसी ने भाजपा नेताओं के वाहनों पर पत्थर फेंकने शुरू कर दिए। इनमें से कुछ पत्थर डिप्टी स्पीकर रणवीर गंगवा की गाड़ी के पिछले शीशे पर लगे और शीशा टूट गया। भाजपा नेताओं के वाहनों पर पत्थरबाजी का वीडियो भी इंटरनेट मीडिया पर वायरल हुआ था।
किसानों ने बरनाला रोड पर दिया था धरना गाड़ी पर हमला करने के आरोप में पुलिस ने पांच किसानों को गिरफ्तार किया था। उनकी रिहाई की मांग को लेकर अन्य किसानों ने बरनाला रोड पर महापड़ाव डाला दिया। इसमें संयुक्त किसान मोर्चा के नेता राकेश टिकैत व अन्य किसान नेता भी शामिल हुए थे। मांग नहीं मानने पर बरनाला रोड पर दक्ष प्रजापति चौक पर किसान नेता बलदेव सिरसा ने आमरण अनशन शुरू कर दिया था। इसके बाद पुुलिस ने किसानों को रिहा कर दिया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!