|| || WELCOME TO BHARTIYA NEWS || || भारतीय न्यूज़ वेब टीवी में आपका स्वागत है/ राष्ट्रीय ख़ोज न्यूज़ टीवी चैनल में आपका स्वागत है|| || देखिये देश- विदेश की मुख्य खबरें || ||WELCOME TO BHARTIYA NEWS || || देखिये देश की ताज़ा एवं तेज तर्रार खबरें || || विज्ञापन देने के लिए सम्पर्क करें || || WELCOME TO BHARTIYA NEWS || ||

हरियाणा कृषि मंत्री जेपी दलाल ने कहा प्रदेश में खाद की न कोई कमी है न ही कभी रहेगी, जैविक खाद का उपयोग किसानी के लिए बेहतर*

राणा ओबराय
राष्ट्रीय ख़ोज/भारतीय न्यूज,
,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,
हरियाणा कृषि मंत्री जेपी दलाल ने कहा प्रदेश में खाद की न कोई कमी है न ही कभी रहेगी, जैविक खाद का उपयोग किसानी के लिए बेहतर*
,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,
चण्डीगढ ;- हरियाणा के कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री श्री जे.पी. दलाल ने कहा कि प्रदेश में किसी भी प्रकार के खाद की कोई कमी नही है और निकट भविष्य में न ही कोई कमी रहेगी। केंद्र सरकार से डीएपी खाद के छः रैक जल्द ही प्रदेश को मिल जाएंगे। कृषि मंत्री ने कहा कि किसान अपनी अगामी फसल की तैयारी करें, उन्हें किसी भी प्रकार की चिंता करने की जरूरत नही है। किसानों को समय पर खाद मिलेगा। उन्होंने कहा कि हमारी सरकार ने किसानों को अच्छी मंडिया, योजनाएं दी है और फसलों को एमएसपी रेट पर खरीदा जा रहा है। उन्होंने कहा कि किसानों को जैविक खाद का उपयोग करना चाहिए, जिससे उनको मार्किट में फसलों, सब्जियों के अच्छे रेट मिल जाते हैं । उन्होंने कहा कि भारत सरकार से सहयोग लेकर प्रदेश में जैविक खाद को बढ़ाया जाएगा, जिसके लिए प्रदेश की गौशालाओं में गाय के गोबर से जैविक खाद तैयार कर उसको बेचा जाएगा और गौशालाओं की आय भी बढ़ेगी। उन्होंने ने कहा कि प्रदेश में 2021-22 की रबी फसलों के लिए यूरिया की कुल 11 लाख एमटी की जरूरत है। प्रदेश सरकार के पास आज तक कुल 2 लाख 60 हजार 056 एमटी यूरिया खाद की उपलब्धता है, जिसमें से अब तक 90 हजार एमटी से अधिक खाद किसानों को दिया जा चुका है। जो कि पिछले वर्ष एक अक्तूबर से लेकर 27 अक्तूबर 2020 तक 66 हजार 345 एमटी यूरिया खाद किसानों को दिया जा चुका था।
श्री दलाल ने बताया कि प्रदेश में 2021-22 की रबी फसलों के लिए डीएपी खाद की कुल 3 लाख एमटी की जरूरत है। सरकार के पास आज तक एक लाख 38 हजार 356 एमटी डीएपी खाद की उपलब्धता है, जिसमें से अब तक एक लाख 10 हजार 185 एमटी डीएपी खाद किसानों को दिया जा चुका है। जोकि पिछले वर्ष एक अक्तूबर से लेकर 27 अक्तूबर 2020 तक एक लाख 3 हजार 072 एमटी डीएपी खाद किसानों को दिया जा चुका था।
कृषि मंत्री ने बताया कि 2021-22 की रबी फसलों के लिए एसएसपी खाद की कुल एक लाख एमटी की जरूरत है। सरकार के पास आज तक 75 हजार 886 एमटी एसएसपी खाद की उपलब्धता है, जिसमें से अब तक 39 हजार 975 एमटी एसएसपी खाद किसानों को दिया जा चुका है। जोकि पिछले वर्ष एक अक्तूबर से लेकर 27 अक्तूबर 2020 तक 13 हजार 380 एमटी एसएसपी खाद किसानों को दिया जा चुका था।
इसी प्रकार उन्होंनेे बताया कि 2021-22 की रबी फसलों के लिए एनपीके खाद की कुल 0.50 एमटी की जरूरत है। सरकार के पास आज तक 20 हजार 937 एमटी एनपीके खाद की उपलब्धता है, जिसमें से अब तक 14 हजार 202 एमटी एनपीके खाद किसानों को दिया जा चुका है। जोकि पिछले वर्ष एक अक्तूबर से लेकर 27 अक्तूबर 2020 तक 2 हजार 648 एमटी एनपीके खाद किसानों को दिया जा चुका था। कृषि मंत्री ने कहा कि प्रदेश की मंडियों में अब तक 44.40 लाख एमटी धान आ चुकी है, जिसमें से 43.61 लाख एमटी धान की खरीद की जा चुकी है। उन्होंने बताया कि 36.85 लाख एमटी धान मंडियों से उठाई जा चुकी है और किसानों की 6200 करोड़ रूपये की राशि दी जा चुकी है। उन्होंनें बताया कि बासमती धान 25 अक्तूबर तक 4.68 लाख एमटी मंडियों में आ चुकी है, जिसमें से 4.56 लाख एमटी धान खरीद की गई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!