|| || WELCOME TO BHARTIYA NEWS || || भारतीय न्यूज़ वेब टीवी में आपका स्वागत है/ राष्ट्रीय ख़ोज न्यूज़ टीवी चैनल में आपका स्वागत है|| || देखिये देश- विदेश की मुख्य खबरें || ||WELCOME TO BHARTIYA NEWS || || देखिये देश की ताज़ा एवं तेज तर्रार खबरें || || विज्ञापन देने के लिए सम्पर्क करें || || WELCOME TO BHARTIYA NEWS || ||

इंसान की तरक्की में पशु पक्षियों का पूरा योगदान, नही भूलना चाहिए इनका अहसान ;- कृष्ण भारद्वाज*

राणा ओबराय
राष्ट्रीय ख़ोज/भारतीय न्यूज,
,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,
इंसान की तरक्की में पशु पक्षियों का पूरा योगदान, नही भूलना चाहिए इनका अहसान ;- कृष्ण भारद्वाज*
,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,
चंडीगड़ ;- हिंदुस्तान ने आज जितनी भी तरक्की करी है। वह एक सराहनीय कार्य है। देश की कामयाबी के डंके चारों दिशाओं में बज रहे हैं। इस सबका श्रेय इंसान खुद लेना चाहता है अच्छी बात है। परन्तु खुदगर्ज इंसान यह भूल गया कि इस तरक्की में हमारे देश के पशु पक्षियों का भी पूर्ण सहयोग रहा है। यह विचार पशु- पक्षी प्रेमी व हरियाणा के गृहमंत्री के निजी सचिव कृष्ण भारद्वाज ने राष्ट्रीय ख़ोज/भारतीय न्यूज के सम्पादक राणा ओबराय से एक भेंटवार्ता में कहे। उन्होंने कहा आज से लगभग 25 -30 वर्ष पहले खेती बाड़ी, व्यापार करने के लिए देश मे आधुनिक साधन नहीं होते थे। इंसान पशु पक्षियों की सहायता से सब कार्य करता था।आज जब हम विकास शील हो गए हैं तो अपने पुराने साथियों को ही भूल गए हैं। भारद्वाज ने कहा इसीलिए तो इंसान को स्वार्थी कहा जाता है। उन्होंने बताया पुराने युग हम खेती अपने बेल मित्रो के साथ करते थे। जिससे हमारी उपज होती थी। गाय भैंस से हमे इंधन मिलता था। कुत्ता के रूप में हमारा बॉडी गार्ड हमारे साथ होता था। जिसके सहारे हम रात को भी खेतो में काम करते थे। उन्होंने कहा आज के इस मशीनी युग मे हम सब अपने पुराने वफादार साथियों को भूल चुके हैं। जो कि सरासर गलत है। उन्होंने कहा हमे इनका अहसास मंद होना चाहिए। पशु एवं प्रकृति प्रेमी कृष्ण भारद्वाज ने देश की जनता को अपील करते हुए कहा बरसात व ठंड के मौसम में कुत्ते व गाय जैसे वफादार जानवर को आश्रय दें। उन्होंने बताया कि जिस घर में कुत्ता होता है वहाँ शत्रुदोष खत्म होता है। जिस घर मे बिल्ली होती है वहाँ सर्पदोष खत्म होता है औऱ जिस घर मे गाय होती है वहां देवी देवताओं का वास होता है सब कष्ट दूर होते हैं। उन्होंने कहा पुराने समय मे हमें इन सब की जरूरत होती थी औऱ अब आज के आधुनिक युग मे हमारे पुराने वफादार साथियों को हमारी जरूरत है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!